रेप पीडि़ता के साथ घटना होने के समय फोटो खींचने वाले षड्यंत्रकारी पर क्यों मेहरबान है सचेंडी पुलिस?

जन एक्सप्रेस/दिग्विजय सिंह
कानपुर नगर।
थाना सचेंडी क्षेत्र में एक रेप पीडि़ता न्याय पाने की आस में अपने माता पिता के साथ कोतवाल के इर्द-गिर्द चक्कर लगा रही है। रेप करने वाले मुख्य आरोपी की तो गिरफ्तारी हो गई है लेकिन जिस आरोपी ने घटना के समय रेप होने के टाइम उसका फोटो खींचा रेप की पूरी घटना का षड्यंत्र रचने वाला। अब वहीं आरोपी रेप के समय खींची गई फोटो लोगों को दिखा कर अपमानित करता फिरता है। उसके विरुद्ध गिरफ्तारी की कार्रवाई न होने से आरोपियों के हौसले बुलंद है और वहीं दूसरी ओर रेप पीडि़ता व उसका परिवार आत्महत्या करने तक जैसी बातें भी सोच रहा है।
क्या है पूरा मामला- विदित हो कि थाना सचेंडी क्षेत्र के भौती प्रतापपुर की रहने वाली पूनम (काल्पनिक नाम) जो कि सचेंडी में ब्यूटी पार्लर का कोर्स करने जाती थी। बीती 10 सितंबर सुबह मोहल्ले की लड़कियों के साथ गई थी। तभी सचेंडी में मोहल्ले के सोनू पुत्र सूरज वीर का साला निखिल पुत्र स्वर्गीय मेवालाल निवासी मठापुरवा कैंधा रेप पीडि़ता को भरोसा दिलाकर मोटरसाइकिल पर बिठाकर घर पहुंचाने के बजाय गांव न ले जाकर सीढ़ी इटारा ले गया और वहां पर जबरन तमंचे की नोक पर उसके साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दिया ।
उसके इस बलात्कार कांड में उसका संपूर्ण रूप से सहयोग गांव में ही रहने वाले अजय नामक व्यक्ति द्वारा दिया गया था। और उसके द्वारा रेप होने के वक्त पीडि़ता को बचाने की जगह उसका फोटो खींचा गया था। रेप होने के षड्यंत्र में बराबर का हकदार अजय भी था। पहले से मोहल्ले का अजय मौजूद था।
रेप पीडि़ता के पिता की तहरीर पर मुख्य आरोपी निखिल के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के साथ साथ ही अजय व उसके परिवार जनों पर भी मुकदमा दर्ज किया गया लेकिन बलात्कार का षड्यंत्र रचने वाले घटना के समय सामने रहकर रेप पीडि़ता का आपत्तिजनक फोटो बनाने वाले अजय पर थाना सचेंडी की पुलिस क्यों मेहरबान है यह सोच से परे है। लगातार अजय व आरोपी के परिजन पीडि़त रेप पीडि़ता व उसके परिवार को आत्महत्या करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। वहीं रेप पीडि़ता व उसके परिवार जनों का आरोप है कि आए दिन मुख्य आरोपी के परिजन व षड्यंत्र रचने वाला अजय व उसका परिवार मारपीट कर जान से मारने की धमकी देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *