डीएम तथा एसपी की मौजूदगी में आज अथवा संपूर्ण समाधान दिवस

कई महीनों बाद आयोजित हुआ संपूर्ण समाधान


बलरामपुर । जनपद बलरामपुर में सरकार के शासनादेश के बाद लगभग 6 महीने बाद संपूर्ण समाधान दिवस कोविड-19 के गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए कृषि उत्पादन मंडी समिति परिसर में जिला अधिकारी कृष्णा करुणेश तथा पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा की मौजूदगी में आयोजित किया गया । प्रचार प्रसार की कमी के चलते फरियादियों की संख्या काफी अधिक नहीं रही। फिर भी जो भी फरियादी आए उनकी समस्याओं को जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक ने गंभीरता से सुना और समस्या के निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारी को आवश्यक निर्देश जारी किए । समाधान दिवस में अधिकांश शिकायतें भूमि विवाद अथवा सार्वजनिक वितरण प्रणाली की शिकायतों से संबंधित रही। सभी शिकायतों का निस्तारण अगले समाधान दिवस से पूर्व  निस्तारित करने का निर्देश दिया गया । 
जानकारी के अनुसार संपूर्ण समाधान दिवस कृषि उत्पादन मंडी समिति परिसर में किया गया था। समाधान दिवस पर सुनवाई के लिए दो दो गज की दूरी पर फरियादियों के बैठने के लिए कुर्सियां लगाई गई थी। बीच में पर्याप्त डिस्टेंस रखते हुए सामने की तरफ अधिकारियों के लिए बैठने की कुर्सियां सोशल डिस्टेंसिंग के आधार पर लगाई गई थीं। समाधान दिवस कई महीनों के बाद शुरू होने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को सूचना नहीं मिल पाई थी, जिसके कारण फरियादियों की संख्या काफी कम रही । समाधान दिवस के दौरान लगभग ढाई दर्जन प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किए गए जिनके निस्तारण हेतु संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया । अधिकांश शिकायतें राशन, कोटेदार तथा राशन कार्ड ना बनाने से संबंधित रही। समाधान दिवस के दौरान ही जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक के आने से पूर्व पूर्ति निरीक्षक इंद्रभान द्वारा मनोज गुप्ता नामक फरियादी के साथ अभद्रता का मामला भी सामने आया ।  पीड़ित द्वारा पूर्ति निरीक्षक द्वारा अभद्रता की शिकायत भी की गई जिस पर जिलाधिकारी ने जांच कराकर कार्रवाई की बात कही। वहीं जिला पूर्ति निरीक्षक कुंवर दिनेश प्रताप सिंह ने पूरे मामले को छुपाते हुए पूर्ति निरीक्षक का बचाव करते हुए गोलमोल जवाब दिया । पूर्ति विभाग की लापरवाही की शिकायत कई फरियादियों द्वारा की गई। यह भी शिकायत आई कि कोटेदार व पूर्ति विभाग के सह पर मनमानी कर रहे हैं  ।महीनों राशन वितरण नहीं होता है, कोटेदारों द्वारा घटकली की जाती है परंतु विभाग कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *