इस बार दशहरा मेला 10 दिन के बजाय 5 दिन ही मनाया जाएगा

जन एक्सप्रेस/मोबीन अहमद।
सिंगाही खीरी।
कोरोना काल में सरकार द्वारा धार्मिक-समाजिक कार्यक्रमों से लेकर विवाद शादी के कार्यक्रम पर पाबंदी लगाई गई है। समागम में 100 व्यक्ति से अधिक भीड़ इकट्ठी करने पर पाबंदी लगाई गई है। कोरोना काल के दौरान जहां नवरात्र, गणेश उत्सव, रामनवमीं जैसे हिदुओं त्योहार नहीं मनाए गए। वहीं अब दशहरा मेला को लेकर धार्मिक संगठन कशमश में हैं। रामलीला व दशहरा मेला कमेटी द्वारा दशहरा मेला व रामलीला को लेकर धर्मशाला में बैठक की गई। जिसमें कमेटी के सदस्यों से विचार विमर्श किया गया।मेला अध्यक्ष जय शाह ने कहा कि सरकार के नियमों को ध्यान में रखते भैया दूज से रामलीला किया जायेगा। कोविड-19 के चलते मेले में सामाजिक दूरी का अनुपालन कराने के निर्देश दिए गए हैं वहीं मेला महामंत्री प्रवीण शाह ने बताया कि इस बार रामलीला मेला कोरोना महामारी के चलते 10 दिन के बजाय 5 दिन लगेगा मेंला 16 नवम्बर से शाम को भूमि पूजन से मेले की शुरुआत होगी धनुष यज्ञ रावण वध शाम को राज तिलक एवं समापन होगा वहीं मेले में सामाजिक दूरी का पालन भी कराया जाएगा रावण वध लीला मंचन के दिन दिखने वाली भीड़ को नियंत्रण करने के लिए कार्य योजना बनाई जाएगी सामाजिक दूरी का अनुपालन कराने के लिए लाउडस्पीकर से लोगों को जागरूक किया जाएगा मेले में सुरक्षा व्यवस्था के भी इंतजामात किए जाएंगे। इस दौरान चेयरमैन उत्तम मिश्रा, पूर्व चेयरमैन प्रदीप पुरवार, कार्य वा०महामंत्री नृपराज शाह, कोषाध्यक्ष अनुराग शुक्ला,राम प्रकाश सोनी, पैकरमा गुप्ता, देशराज सिंह, मारुफ खां सभासद महेश सिंह ,ईतवारी सहित समस्त सभासदगण सम्मानित गणमान्य लोग मोजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *