खबर का असर : अपहरणकर्ताओं को पकडऩे में नाकाम बर्रा कोतवाल रणजीत राय निलंबित

जन एक्सप्रेस/पिंटू सिंह
कानपुर नगर।
एक बार फिर से जन एक्सप्रेस की खबर का असर हुआ है। शहर के बर्रा थाना क्षेत्र में पीडि़त परिवार से अपहरणकर्ताओं को 30 लाख रुपये की फिरौती दिलवाने और इस मामले में लापरवाही करने पर बर्रा थाने के कोतवाल रणजीत राय को एसएसपी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

प्रियंका गांधी ने फेसबुक पर यूपी सरकार को घेरा था
प्रियंका गांधी ने लिखा था कि, कानपुर में बदमाशों ने एक युवक का अपहरण कर लिया। अपहरण करने वालों ने परिवार से फिरौती मांगी। परिवार ने मकान और शादी के जेवर बेचकर 30 लाख रुपये इक_ा किए।पुलिस के कहने पर परिजनों ने पैसे से भरा बैग भी अपहरणकर्ताओं के हवाले कर दिया और पुलिस न तो बदमाशों को पकड़ सकी और न ही उनका बेटा छुड़ा सकी। परिजनों का रो – रोकर बुरा हाल है। ये उसी कानपुर का मामला है जहां कुछ दिनों पहले इतनी बड़ी घटना घटी थी। अब आप यूपी की कानून व्यवस्था का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं।

क्या है मामला
कानपुर बर्रा थाना पुलिस को शातिर अपहरणकर्ता गच्चा देकर फिरौती के 30 लाख रुपये लेकर तो फरार हो ही गए और अपहृत संजीत यादव को भी नहीं छोड़ा। 22 जून से अपहृत संजीत यादव लैब टेक्नीशियन को छोडऩे के लिए अपहरणकर्ताओं ने परिजनों को फिरौती की रकम के साथ गुजैनी फ्लाईओवर के ऊपर बुलाया था। परिजनों ने मकान और जेवर बेचकर रकम जुटाई रकम को लेकर परिजन फ्लाईओवर पर पहुंचे तो पुलिस भी उनके पीछे अपहरणकर्ताओं को दबोचने के लिए लगी रही। पर अपहरणकर्ता पुलिस से भी दो कदम आगे निकले। वे फ्लाईओवर के नीचे खड़े रहे। परिजनों को फ्लाई ओवर के ऊपर बुलाया और खुद नीचे आये। फोन कर रकम नीचे फिंकवाई। पुलिस जब तक उनके पास पहुंचती, इससे पहले ही वे रकम लेकर फरार भी हो गए। परिजनों ने एसएसपी के यहां गुहार लगाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *