निजीकरण के विरोध में विद्युत कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार

जन एक्सप्रेस संवाददाता

बलरामपुर । उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पूर्वांचल विद्युत बोर्ड को निजी हाथों में सौंपने के निर्णय की सूचना के बाद विभागीय अधिकारियों तथा कर्मचारियों में असंतोष लगातार बढ़ रहा है । सोमवार को पूरे प्रदेश में बिजली कर्मचारी कार्य बहिष्कार कर हड़ताल पर चले गए । बलरामपुर में भी विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले विद्युत अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन किया। विद्युत विभाग संयुक्त संघर्ष समिति निजीकरण का विरोध कर रही है । कार्य बहिष्कार के कारण विद्युत आपूर्ति भी कई जगह प्रभावित रही । हालांकि जिला प्रशासन ने विद्युत आपूर्ति बहाल रखने के लिए संविदा पर तैनात विद्युत कर्मियों की ड्यूटी लगाई थी, परंतु विद्युत कर्मचारियों की कमी के चलते ना तो समस्याएं दूर हो पाई और ना ही ऑफिस का कोई कार्य संपन्न हो सका। विद्युत उपभोक्ता अपनी समस्याओं को लेकर कार्यालय का चक्कर लगाते रहे परंतु उनका कोई सुनने वाला नहीं था । विद्युत कर्मचारी व अधिकारी अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं, उनकी मांग है कि सरकार निजी करण का फैसला समाप्त करें । विद्युत कर्मचारी गिरफ्तारी देने के लिए भी तैयार हैं। अपनी मांगों को लेकर अड़े कर्मचारियों ने पूरे दिन विद्युत वितरण मुख्य शाखा परिसर में धरना प्रदर्शन करते रहे । संघर्ष समिति का दावा है कि उनके आंदोलन को अन्य प्रदेशों के विद्युत संगठन भी समर्थन दे रहे हैं। इसके अलावा किसान यूनियन भी इस आंदोलन को समर्थन देने की घोषणा कर रही है। जिन विद्युत  कर्मचारी संघ  के प्रतिनिधि आंदोलन में सम्मिलित हुए उनमें प्रमुख रूप से संघर्ष समिति के संयोजक व अभियंता संघ के अध्यक्ष इंजीनियर योगेश सिंह, अधिशासी अभियंता इंजीनियर सुनील चौधरी, इंजीनियर बालकृष्ण प्रजापति व विमलेंद्र श्रीवास्तव, जूनियर इंजीनियर संगठन के प्रवेश कुमार व संतोष मौर्य, राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक संघ के अजय चौरसिया जिला सचिव, संदीप यादव, उपेंद्र यादव, विद्युत मजदूर संघ के आरपी सिंह तथा दीपक वर्मा प्रमुख हैं, जिनकी अगुवाई में सैकड़ों की संख्या में विद्युत विभाग के अधिकारी तथा कर्मचारी कार्य का बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन में सम्मिलित हुए । विद्युत वितरण कार्य संचालित कराने तथा कानून व्यवस्था को बरकरार रखने के उद्देश्य से उप जिलाधिकारी सदर नरेंद्र नाथ यादव पुलिस क्षेत्राधिकारी वरुण मिश्रा धरना स्थल पर मौजूद रहे और बराबर नजर बनाए रखा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *