गड्ढामुक्त सडक़, स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के कार्यों में लाए तेजी : मुख्यमंत्री

जन एक्सप्रेस संवाददाता
रायबरेली।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के दृष्टिगत रखते हुए विकास व निर्माण कार्यों को युद्ध स्तर पर तेजी से संचालित करने के निर्देश दिये है। ग्राम सचिवालय, ग्राम पंचायतों के लिए उपहार है एक ग्राम सचिवालय के लिए 20 लाख का बजट है इस बजट में अच्छा भवन स्थापित होगा। इससे ग्रामों में बरातघर आदि सहित अन्य कार्यों में भी ग्रामीण इस्तेमाल कर सकते हंै। जिला प्रशासन जप्रतिनधियों से बेहतर समन्वय स्थापित करते हुए भूमि चिन्हित कर ग्राम सचिवालय के निर्माण कराये। विकास व निर्माण कार्य को गुणवत्तापूर्ण, मानक के अनुरूप समयबद्ध तरीके से पूर्ण किये जाए। कार्यो को समय रहते हुए पूर्ण किये जाने पर जहां लागत में कमी होती है वहीं जनता को योजनाओं एवं परियोजनाओं का समय से लाभ भी मिलता है। यह निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ ने लखनऊ मण्डल के जिला रायबरेली, लखनऊ, सीतापुर, उन्नाव, लखीमपुर खीरी जनपदों के विकास कार्यों की समीक्षा वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से करते हुए निर्देश दिये। आमजनमानस को घर, शौचालय व राशन से वंचित न रहे इस पर विशेष ध्यान देते हुए स्वयं सहायता समूहों की मदद लेते हुए शासन की योजनाओं से जनसामान्य को लाभान्वित किया जाए तथा पात्र व्यक्तियों के राशन कार्ड नियमानुसार बनाये जाए। प्रधानमंत्री ग्रामीण व शहरी व मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ पात्र व्यक्तियों को दिलाया जाए। मुख्यमंत्री द्वारा वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लखनऊ मण्डल के जनपदों की समीक्षा में जनपद के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, विधायक दल बहादुर कोरी तथा घरों के माध्यम से वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग रहे विधायक धीरेन्द्र बहादुर सिंह, राकेश कुमार सिंह, राम नरेश रावत भी ऑनलाइन रहे। लखनऊ मण्डल में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक निर्माणाधीन परियोजनाओं के लिए धनराशि नियमानुसार और समय से निर्गत किये जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि धनराशि के अभाव में निर्माण कार्य बाधित नही होना चाहिए। विकास परियोजनाओं की भौतिक प्रगति के सम्बन्ध में यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट समय से प्रेषित किये जाए, जिससे धनराशि शासन द्वारा समय से निर्गत की जा सके। मुख्यमंत्री ने जनपद रायबरेली सहित लखनऊ मण्डल के जनपदों के जनप्रतिनिधियों से संवाद किया और जनपद सहित मण्डल में संचालित परियोजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। विकास योजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में फीडबैक प्राप्त करते हुए जनप्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री का आभार भी प्रकट किया गया । मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधि बेहतर समन्वय बनाते हुए विकास की गति में तेजी लाने के निर्देश के साथ ही शिलान्यास तथा लोकार्पण कार्यों को जनप्रतिनिधियों द्वारा ही कराया जाए। मुख्यमंत्री जी ने यह भी निर्देश दिये है कि आगामी पर्वाे को ध्यान में रखते हुए जनसामान्य लोगों को कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए विशेष रूप से जागरूक किया जाए। तथा आगामी पर्व व त्योहारों को सोशल डिस्टेसिंग व फेस कवर/मास्क का प्रयोग व स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पूर्ण पालन कतरे हुए घरो पर रहकर ही मनाये जाए एवं कोई भी सार्वजनिक आयोजन न किये जाए पर भी जोर दिया गया। पर्वो व त्योहारों के पूर्व ही सडक़ों को गड्ढामुक्त किये जाने तथा नवनिर्माण कार्यो को गुणवत्तापूर्ण ढंग से किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के कार्यो की गति बढ़ाए। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना के निमाण कार्यो तथा स्वच्छ भारत मिशन में निर्मित शैचालयों की जियों टैगिंग कराने के निर्देश भी दिये। उन्होनें कहा कि गो-आश्रय स्थलों को सुवयवस्थित ढंग से संचालित किया जाये। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, विधायक दल बहादुर कोरी ऑनलाइन रहे धीरेन्द्र बहादुर सिंह, राकेश कुमार सिंह, रामनरेश रावत ने जनपद में चल रहे व पूर्ण किये गये निमार्ण व विकास कार्यो की जानकारी दी। एमएलसी ने रायबरेली से प्रयागराज मार्ग मे मुंशीगंज सई नदी पर बने पुल के बारे में बताया कि पुल बहुत सकरा व जर्जर है नये पुल के निर्माण की जरूरत है इस पर मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि जनपद से पुल सहित अन्य आवश्यक विकास कार्यों के प्रस्ताव जनप्रतिनिधियों से वार्ता कर शासन को भेजे जिससे जनसामान्य को शीघ्र लाभ प्राप्त हो सके। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. वीरेन्द्र सिंह, एडी सूचना प्रमोद कुमार, रायबरेली विकास प्राधिकरण के अधिकारी ए.के. राय आदि प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *