तुलसीनगरी की विवादित संपत्ति को राजापुर तहसील प्रशासन ने किया अपने सुपुर्द

चित्रकूट/ राजापुर तुलसी जन्मस्थली राजापुर में 1956 में तुलसी स्मारक समिति द्वारा तुलसी स्मारक भवन में किए गए निर्माण के आपसी विवाद को देखते हुए उपजिलाधिकारी राजापुर के द्वारा शान्तिभंग के आशंका के मद्दे नजर धारा 145 व 146 (ए०) के अन्तर्गत दोनों पक्षों को नोटिस देकर स्मारक ग्राउण्ड के अन्दर ग्वेस्ट हाउस एवं 9 दुकानों को सील कर तहसीलदार प्रमेश श्रीवास्तव की देखरेख में सौंपा गया है। तहसीलदार राजापुर प्रमेश श्रीवास्तव ने बताया कि उपजिलाधिकारी राजापुर ने शान्ति व्यवस्था को देखते हुए पुलिस की रिपोर्ट पर तुलसी स्मारक ग्राउण्ड में बने ग्वेस्ट हाउस एवं 9 दुकानों पर दिनाँक 23 जुलाई को सीआरपीसी के धारा 145 व 146 (ए०) के तहत उपरोक्त ग्वेस्ट हाउस व 9 दुकानों को मेरी व नायब तहसीलदार पुष्पेन्द्र सिंह गौतम , नायब तहसीलदार सरधुआ विवेक कुमार , सदर लेखपाल रमाकान्त द्विवेदी , संग्रह अमीन मो० अनवार व गुलाबधर शुक्ला तथा तहसील के कर्मचारियों की उपस्थिति में दोनों पक्षों के विवादित तालों को तोड़कर सरकारी ताले लगाकर सील कर मेरी अभिरक्षा में उक्त ग्वेस्ट हाउस व 9 दुकानें सौंपी गई हैं। तहसीलदार ने बताया कि जब तक दोनों विवादित पक्षों का कोई निर्णय माननीय न्यायालय से नहीं आता है तब तक उपरोक्त दुकानें व ग्वेस्ट हाउस सील रहेंगे और किसी भी प्रकार का जन उपयोग नहीं किया जा सकता तथा तुलसी स्मारक में स्थापित तुलसीदास जी की प्रतिमा के दर्शन हेतु लोगों के लिए पट एवं मेन गेट में लगाए गए तालों के सन्दर्भ में पुजारी व चौकीदार को निर्देशित किया गया है कि सुबह 8:00 बजे से शाम 8:00 बजे तक दर्शन हेतु दरवाजे खुले रखने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *