नमस्ते इंडिया दूध की फैक्ट्री में दो और कर्मचारी पाए गए कोरोना पॉजिटिव

लैब इंचार्ज व शिफ्ट इंचार्ज कोरोना पॉजिटिव

बीती 21 जुलाई से कोरोना पॉजिटिव पाए जाने लगे फैक्ट्री में तैनात कर्मचारी

पूर्व में भी चार कर्मचारी पाए गए थे कोरोना पॉजिटिव, पांडू नगर स्थित रिटेल शॉप का डिलीवरी ब्वॉय भी निकला था कोरोना पॉजिटिव,

जन एक्सप्रेस से कमलेश फाइटर की विशेष रिपोर्ट
कानपुर नगर।
शहर के थाना शिवराजपुर क्षेत्र में स्थित नमस्ते इंडिया दूध की फैक्ट्री में बीती 21 जुलाई से वहां पर तैनात कर्मचारियों में कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि आरंभ हो गई थी! तब से लेकर अभी तक इस फैक्ट्री में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने का सिलसिला आरंभ है! हालांकि इस मामले को नमस्ते इंडिया दूध के प्रबंध तंत्र आर एस पी एल समूह के रसूख के कारण जिला प्रशासन ने तूल नहीं दिया और फैक्ट्री में लगातार दूध का उत्पादन हो रहा है। बीती 21 व 24 जुलाई को फैक्ट्री में तैनात तीन और कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद हड़कंप मच गया था। लेकिन इस बात को भी इस कंपनी के द्वारा दबाने का प्रयास किया गया। परंतु किसी तरह से यह मामला जनहित में खबरें प्रकाशित करने वाले जन एक्सप्रेस हिंदी दैनिक की नजर में आ गया और अपनी ख्याति के अनुसार जन एक्सप्रेस ने जनता की जान बचाने के लिए अपना धर्म निभाते हुए खबर का प्रकाशन भी किया। इसके बाद पांडू नगर स्थित रिटेल शॉप का डिलीवरी बॉय भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया और उसे प्रबंध तंत्र ने कहा गायब कर दिया कुछ पता नहीं चला!

जिन हाथों से दूध चेक होकर गुजरता है उसी लैब का इंचार्ज को भी कोरोना पॉजिटिव निकला है! इसके साथ-साथ शिफ्ट इंचार्ज भी कोरोना पॉजिटिव हुआ है! हमारी मजबूरी है कि हम जिस कर्मचारी या व्यक्ति को कोरोना ने अपनी चपेट में लिया है उसका नाम नहीं खोल सकते! लेकिन अभी भी जिला प्रशासन सोया हुआ है लगातार इस फैक्ट्री में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के निकलने के बाद भी फैक्ट्री को सील नहीं किया गया! हालांकि मात्र दिखावे के लिए नमस्ते इंडिया दूध के प्रबंध तंत्र ने नामी-गिरामी तथाकथित अखबारों में इश्तिहार देकर 48 घंटे फैक्ट्री बंद करने का वादा किया था लेकिन ऐसा नहीं हुआ! नमस्ते इंडिया दूध के प्रबंध तंत्र की चोरी पकड़ी गई लगातार उनके द्वारा पीछे के रास्ते से कर्मचारी काम करने आ रहे थे और दूध बराबर शहर में वितरित हो रहा था जिसका खुलासा पूर्व के अंक में जन एक्सप्रेस कर चुका है! नमस्ते इंडिया के रसूख के सामने जिला प्रशासन व सरकार बौनी नजर आ रही है! तभी तो शहर के मानव जीवन की सेहत के साथ खिलवाड़ करने वाली नमस्ते इंडिया दूध की कंपनी पर कोई भी कार्यवाही शासन प्रशासन व प्रदेश स्तर के अधिकारी नहीं कर रहे हैं!

जिला प्रशासन ने अभी तक फैक्ट्री के आसपास के अनुमानित क्षेत्र व फैक्ट्री को नहीं किया कोरोना की गाइड लाइन के अनुसार सील

केंद्र व राज्य सरकार के द्वारा गाइडलाइन जारी कर यह निर्देशित किया गया है कि जहां कहीं भी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति पाया जाएगा उस जगह के कुछ हिस्से तथा जहां पर पॉजिटिव मरीज पाया गया है उस जगह को सील किया जाएगा । लेकिन जिला प्रशासन द्वारा बीती 21 जुलाई से लेकर अभी तक ना ही तो फैक्ट्री में सील की कार्रवाई की गई है और ना ही फैक्ट्री से जुड़े क्षेत्र में सील की कार्यवाही की गई है! जबकि फैक्ट्री में कर्मचारियों का कोरोना पॉजिटिव पाए जाने का सिलसिला जारी है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *