ऑनलाइन क्लासेज हेतु मोबाइल बना छात्रा की मौत का कारण

बड़ी बहन ने कैरासिन ऑयल डालकर लगाई आग, हुई मौत


जन एक्सप्रेस/ एस.पी. शुक्ला शिवकुमार सोनी।
हमीरपुर/मौदहा।
कोरोना संक्रमण के चलते एक ओर सरकार एन्ड्रायड फोन के माध्यम से नई तकनीकी अपनाने की बात कर रही है। वहीं गरीब तपके लोगों के पास एन्ड्रायड फोन न होना कई विवादों का कारण बनता जा रहा है। ऐसा ही कुछ एक मामला मौदहा के परछछ गांव का है, जहां पर चार सगी बहनों के बीच एक एन्ड्रायड फोन है। चारों बहनों विभिन्न कक्षाओं की छात्रायें हैं। ऑनलाइन क्लासेस के लिए एन्ड्रायड फोन होना अनिवार्य है। एन्ड्रायड फोन के कारण आज एक छात्रा ने मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली, जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई। यानी कहने का तात्पर्य यह है कि गरीब तपके लोगों के पास आधुनिक तकनीकी संसाधन उपलब्ध न होने से तकनीकी शिक्षा से वंचित हो रहे हैं। ऑनलाइन क्लासेस द्वारा भले ही ऑनलाइन पढ़ाई का प्रचार प्रसार किया जा रहा हो लेकिन यह पढ़ाई मध्यम वर्गीय घरों में एनरॉएड फोन की कमी के कारण बच्चों के बीच विवाद का कारण बनती जा रही है। जानकारी के अनुसार मौदहा कोतवाली क्षेत्र के गांव परछछ हाल मुकाम मौदहा के कुम्हरौड़ा मोहाल निवासी उदयराज दक्ष कानपुर के किसी प्राईवेट विद्यालय में नौकरी करता है। उदयराज की पत्नी गांव परछछ में आगनवाड़ी कार्यकत्री है। उदयराज की सबसे बड़ी पुत्री प्रजा दक्ष कानपुर के ही ओंकारेश्वर इंटर कालेज में कक्षा दस की छात्रा थी। लॉकडाउन और स्कूलों में छुट्टी होने के चलते वह मौदहा आ गई थी और मोबाइल फोन पर ऑनलाइन पढ़ाई करती थी। प्रजा की तीन बहनें विभिन्न कक्षाओं में ऑनलाइन पढ़ाई करती हैं। आज सुबह ऑनलाइन पढ़ाई के लिए बहनों के बीच में मोबाइल फोन को लेकर विवाद होने पर आक्रोशित बड़ी बहन प्रजा ने कैरोसीन की गैलन लेकर छत पर चढ़ गई और अपने ऊपर उड़ेलकर आग लगा ली।
आग जलते देख लोगों के फायरब्रिगेड को फोन किया और किसी तरह से प्रजा की आग बुझाई गई लेकिन तब तक उसने दम तोड़ दिया था। मौके पर पहुंची पुलिस क्षेत्राधिकारी सौम्या पाण्डेय ने बताया कि मोबाइल फोन को लेकर बहनों के बीच में विवाद हुआ था। इस घटना से मृतका के परिजनों में कोहराम मच गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *