आईपीएल आरंभ होने से पहले कानपुर में सटोरियों के गैंग हुए सक्रिय

क्राइम ब्रांच व स्वाट टीम में वर्षों से तैनात काफी पुलिस वालों को सटोरियों की है सटीक जानकारी                               

कानपुर में सटोरियों के जाल में फंस कर सटोरिए अपनी मां बहनों का भी सौदा करने से नहीं हैं चूकते                               

जल्द ही शहर के सफेदपोश बड़े बड़े सटोरियों का जन एक्सप्रेस करेगा खुलासा      

जन एक्सप्रेस से कमलेश फाईटर की विशेष रिपोर्ट                         कानपुर नगर। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 19 सितंबर से आरंभ होने वाला है! जहां एक और क्रिकेट प्रेमियों में इस बात को लेकर खुशी की लहर है कि कोरोना काल के बाद अब कुछ ऐसे पल आए हैं जब जिंदादिली से क्रिकेट देखने को मिलेगा!  लेकिन इससे कहीं ज्यादा खुशी सटोरियों को है जो आईपीएल मैचों के दौरान जमकर भोले भाले लोगों को अपने जाल में फंसा कर हर मैच हर गेंद पर सट्टा लगवा कर अपनी जेबें भर उन्हें कंगाल कर देते हैं।                                    

कानपुर शहर में भी बड़े स्तर पर सटोरियों ने अपने जाल फैलाने चालू कर दिए हैं! हालांकि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि कानपुर शहर में पहले से ही सटोरियों ने अपना साम्राज्य फैला रखा है! लेकिन आईपीएल के दौरान यह कारोबार लगभग हजार गुना ऊपर पहुंच जाता है।

क्राइम ब्रांच व स्वाट टीम को है सभी सटोरियों की जानकारी

पुलिस विभाग में ही तैनात कुछ पुलिसकर्मियों ने नाम न छापने की शर्त पर यह बताया कि  शहर की क्राईम ब्रांच व स्वाट टीम में तैनात लगभग लगभग सभी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को सटोरियों की सटीक जानकारी उपलब्ध है! जिसका जीता जागता सबूत अभी बीते दिनों पहले देखने को मिला था जब डीआईजी ने क्राइम ब्रांच व स्वाट टीम को भंग करने का पत्र जारी किया था! जिसके बाद आधा दर्जन सटोरिये जो इस मामले में संलिप्त थे गिरफ्तार किए गए थे! लेकिन इसके बाद अभियान एकदम से थम सा गया है।

कानपुर के थाना गोविंद नगर क्षेत्र के एक युवक ने अपनी पत्नी को सट्टे में लगा दिया था दांव पर

कानपुर शहर के लोगों में सट्टे का भूत इस कदर सवार है कि  यहां के लोग अपने घरों को देश कर अपनी सारी दौलत दांव पर लगा देते हैं और बर्बाद हो जाते हैं! बीते कुछ सालों पहले सन 2016 में थाना गोविंद नगर क्षेत्र में जब प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार श्रीवास्तव तैनात थे! उस समय एक युवक द्वारा अपनी बीवी को दांव के रूप में सट्टे पर लगा दिया गया था और यह मामला काफी चर्चित भी हुआ था! जब महिला को तकलीफ और परेशानी हुई तो उसने सामाजिक कार्यकर्ताओं का साथ लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *