शिकारियों के जाल मे फंसी भैंस के दफनाने का खुलासा

जन एक्सप्रेस संवाददाता

चित्रकूट। शिकारियों द्वारा बिछाए गए जाल मे फंसी भैंस के दफनाने का खुलासा हुआ है। उल्लेखनीय है की दो हफ्ते पहले बरूई अहारान गांव निवासी रामप्रसाद की भैंस चरने गई थी, जहां मारकुंडी वनपरिक्षेत्र के रूक्मा बुजुर्ग गांव के नजदीक जंगल मे शिकारियों द्वारा जंगली जानवरों के शिकार के लिए खोदे गए गड्ढे मे भैंस गिर गई थी। भैंस को गड्ढे से निकाल न पाने मे सामर्थ्य  शिकारियों ने भैंस को कटकर गड्ढे मे दफ्ना दिया था। धीरे-धीरे उक्त घटना क राज खुलने पर सोमवार को घटनास्थल पर खुदाई की गई तो भैंस के कंकाल मिले। पीड़ित रामप्रसाद ने बताया की भैंस न मिलने से लगातार तलाश की जा रही थी। थाने मे हुलिया भी कटाई गई थी। भैऔस ढूंढकर परेशान थे,सोमवार को शिकारियों के कारनामे की जानकारी हुई तो खुदाई पर कंकाल मिले हैं। बताया इसी भैंस से परिवार की परवरिश हैती थी,लेकिन भैंस के मरने के बाद परेशानी उठानी पड़ रही है। भैंस की कीमत करीब 80 हजार के आसपास की थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिकारी भैंस की कीमत देने के लिए तैयार हैं,ग्राम पंचायत मे समझौते की बात चल रही है। मारकुंडी रेंज,मानिकपुर और कर्बी रेंज के जंगल मे चप्पे-चप्पे पर शिकारियों के ठिकाने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *