ई-संजीवनी ऐप द्वारा मिलेगा परामर्श, दिव्यांगों को वितरित किए उपकरण

जन एक्सप्रेस संवाददाता
अमेठी।
बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा सुदृढ़ करने के उद्देश्य से वेदांता समूह द्वारा जनपद अमेठी के 102 आंगनवाड़ी केंद्रों को नंदघर के रूप में विकसित किया गया है। साथ ही 200 आंगनवाड़ी केंद्रों को नंदघर के रूप में विकसित किया जाएगा। जो अत्याधुनिक तकनीक और बुनियादी सुविधाओं से सुसज्जित हैं,इसमें सौर पैनल, स्वच्छ शौचालय, वाटर प्यूरीफायर, स्मार्ट टीवी, ज्ञानवर्धक पेंटिंग, फर्नीचर आदि सुविधाएं शामिल हैं। ई-संजीवनी एप के माध्यम से 10 विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा रोगियों को घर पर ही निशुल्क स्वास्थ्य परामर्श दिया जाएगा, इसके लिए उन्हें अस्पताल आने की आवश्यकता नहीं है। इसके साथ ही जनपद अमेठी में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य में सुधार के लिए दो विशेष सीएचसी जगदीशपुर व गौरीगंज को सुसज्जित किया गया है। जिसमें मरीजों की सुविधा हेतु सी सेक्शन प्रसव कराने के लिए विशेषज्ञ, हर समय महत्वपूर्ण दवाएं और उपकरण की उपलब्धता, प्रशिक्षित कर्मचारियों द्वारा देखभाल की उच्च गुणवत्ता, उच्च जोखिम वाले गर्भावस्था के मामलों का परामर्श और प्रबंधन की उपलब्धता स्वास्थ्य विभाग द्वारा सुनिश्चित की गई है। इसके अलावा दर्पण एप के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को हर महीने 250 से अधिक सुविधाओं का निरीक्षण करने व डॉक्टरों की उपस्थिति में मदद मिलेगी। गुरुवार को नंदघर में जिलाधिकारी ने 53 दिव्यांगों को उपकरण वितरित किए जिसमें 16 ट्राई साइकिल, 20 छड़ी, 12 जोड़ी बैसाखी व 5 ब्लाइंड स्मार्ट केन शामिल हैं। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, जिला कार्यक्रम अधिकारी सरोजनी देवी, जिला समाज कल्याण अधिकारी राजेश शर्मा सहित लाभार्थी गण व अन्य संबंधित मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *