बरसात से धान की फसल को हुआ भारी नुकसान, फसल गिरने से किसान है मायूस

जन एक्सप्रेस संवाददाता

मिल्कीपुर /अयोध्या । हवा के साथ हो रही बरसात से धान की फसल को काफी नुकसान हो रहा है। किसानों की धान की फसल पूरी तरह से गिर गई है। यदि बरसात बंद हो जाए तो पानी में डूबी धान की फसल सड़ने बच जाएगी है।मौसम का मिजाज दो दिन से बदला हुआ है। रुक रुक कर हो रही बरसात से किसानों की फसल चौपट होती जा रही है।बरसात होने की वजह से इस बार किसानों को अच्छी फसल की उम्मीद थी, लेकिन बरसात की वजह से किसानों के अरमान पानी फिरता नजर आ रहा है।  तेज बारिश और हवा की वजह से धान की फसल पूरी तरह से गिर गई है। खेतों में बिछी हुई फसल पानी में डूब रही है। इससे धान की फसल के सड़ने के आसार बन गए हैं। गोकुला, पाराधमथुआ, पूरबगांव, सिधौना, कालीगंज, नेवाज का पुरवा, उधुई, बेनी दत्त ,ज्वाला सुबेदार, सथरी आदि क्षेत्रों में यही हाल है।किसानों का कहना है कि फसल में लागत लगाने के बाद अब काटने का समय आया तो मौसम की मार की वजह से धान की फसल गिर गई। धान की फसल चौपट होने के चलते किसानों के चेहरे से रौनक गायब होती नजर आ रही है। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कुमारगंज के मानसून वैज्ञानिक सीताराम मिश्रा ने बताया कि 25 सितंबर दोपहर बाद मौसम साफ होने की संभावना दिख रही है। यदि किसान भाइयों के खेत में धान की फसल गिर गई है और जल भरा हुआ है तो जल निकास का प्रबंध कर ले फसल नुकसान होने से बच जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *