समस्त थानों में आम आदमी को कुर्सी, पानी एवं समस्या सुनवाई हेतु पर्याप्त समय दिया जाए -आईजी

नवागंतुक आईजी रेंज ने की  प्रेस वार्ता

चित्रकूट | मंगलवार को पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूटघाम परिक्षेत्र बांदा  के. सत्यनारायण द्वारा पुलिस अधीक्षक चित्रकूट  अंकित मित्तल की उपस्थिति में पुलिस अधीक्षक कार्यालय स्थित राघव प्रेक्षागार में जनपद चित्रकूट के प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार बन्धुओं के साथ प्रेस वार्ता की गयी।  प्रेस वार्ता के दौरान  सर्वप्रथम सभी को अपना परिचय देते हुये पुलिस विभाग में अपनी अब तक की नियुक्तियों के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। चित्रकूट में विगत दिनों में अपराधियों के विरुद्ध की गयी प्रभावी कार्यवाही की प्रशंसा करते हुये पुलिस अधीक्षक चित्रकूट की सराहना की तथा भविष्य में इसी प्रकार की कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।  अपराधों के नियंत्रण पर प्रभावी कार्योजना की रुप रेखा रखी गयी पूरे परिक्षेत्र के समस्त थानों में आम आदमी को कुर्सी, पानी तथा समस्या सुनवाई हेतु पर्याप्त समय दिया जाये। थानों में आम आदमी का सम्मान हो तथा उनकी बात सुनी जाये तथा कृत कार्यवाही से पीडित को अवगत भी कराया जाये। यदि कार्यवाही से पीड़ित संतुष्ट न हो तो समस्या के समाधान हेतु अंतिम तक प्रयास किया जाये। अर्थात कार्यवाही को अंतिम रुप तक पहुंचाया जाये।  जनपद में टॉप-10, गैंग तथा सक्रिय अपराधियों को चिन्हित कर इनके विरुद्ध प्रभावी कार्यावाही की जाये। एक माह में 05 सक्रीय अपराधियों को चिन्हित किया जाये, जो जमानत पर बाहर हों, जमानतदारों की जांच करायी जाये, झूठें जमानतदारों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही कर अपराधियों को स्वतंत्र रूप से बाहर न रहने दिया जाये।   काजलिस्ट के अनुसार गंभीर अपराधों को छांटकर मुकदमें में गवाहों को पर्याप्त संरक्षण देते हुये माननीय न्यायालय में गवाही कराकर अपराधियों को सजा दिलाना तथा अपराधियों विरुद्ध गैंगेस्टर एक्ट के अन्तर्गत 14(1) की कार्यवाही कर चल एवं अचल सम्पति को कुर्क कराने की कार्यवाही की जाये। मुख्य उद्देश्य अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाना है।जनपद में 05 अन्य वर्कआउट केस की सूची बनाकर उन केसों को वर्कआउट कराना तथा जनपद में घटित महत्वपूर्ण अपराधों को नये सिरे से अनवेषण करा कर वर्कआउट कराना, जिसकी मोनिटरिंग क्षेत्राधिकारियों द्वारा की जायेगी। उक्त अनवेषण में साक्ष्य इकट्टा करने, अभियुक्तों को जेल भेजने तथा उन्हे सजा दिलाने तक की कार्यवाही की जायेगी। मफरूर अभियुक्त के विरुद्ध धारा 82/83 सीआरपीसी की प्रभावी कार्यवाही की जायेगी जिसमें जनता के समस्त मुनादी कराकर सामान जब्ति की कार्यवाही की जायेगी।जनपद में अभियुक्तों की गिरफ्तारी ही नहीं बल्की उन्हे सजा दिलाने तक की  कार्यवाही की जायेगी। क्षेत्राधिकारीगण 05 महत्वपूर्ण शिकायत प्रार्थना पत्रों की जांच स्वयं केरेगे , जिसमें इनके द्वारा फाइल बनाकर सभी कार्यवाही का विवरण लिखा जायेगा, कृत कार्यवाही का विवरण पुलिस अधीक्षक के समस्त पेश किया जायेगा।   उपरोक्त सभी विन्दुओं पर कार्य योजना महीने में 01 से 05 तारीख तक, तैयार कर लें, जिसकी सूची उचित माध्यम से मेरे पास भेजी जायेगी तथा पूरे महीने उस पर प्रभावी कार्यवाही की जायेगी।  प्रेस वार्ता के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक  प्रकाश स्वरुप पाण्डेय, क्षेत्राधिकारी नगर  रजनीश कुमार यादव, क्षेत्राधिकारी मऊ  विजयेन्द्र द्विवेदी, प्रतिसार निरीक्षक पुलिस लाइन, पीआरओ, स्टेनों पुलिस अधीक्षक एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *