वेतन ना मिलने से भुखमरी के कगार पर माध्यमिक विद्यालयों के तदर्थ शिक्षक

सांसद राम शिरोमणि वर्मा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर वेतन भुगतान कराने का किया अपील

बलरामपुर ।  जनपद बलरामपुर तथा श्रावस्ती के माध्यमिक विद्यालयों में वर्ष 2000 के बाद नियुक्त किए गए तदर्थ शिक्षकों के वेतन भुगतान तथा विनियमितीकरण को लेकर सांसद श्रावस्ती राम शिरोमणि वर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कार्यवाही की मांग की है । 
सांसद चौधरी राम शिरोमणि वर्मा ने बताया कि वर्ष 2000 के बाद नियुक्त किए गए बड़ी संख्या में ऐसे शिक्षक हैं जिन्हें वेतन भुगतान नहीं मिल पा रहा है । वेतन ना मिलने के कारण शिक्षकों का परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच चुका है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी प्रबंध तंत्र द्वारा नियुक्त किए गए तदर्थ शिक्षकों को प्रदेश सरकार द्वारा विनियमित करके वेतन भुगतान कई बार किया जा चुका है, परंतु वर्ष 2000 के बाद किसी सरकार ने प्रबंधन द्वारा नियुक्त तदर्थ शिक्षकों को विनियमित नहीं किया। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर पूर्व की सरकारों द्वारा किए गए विनियमितीकरण तथा उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए निर्देशों व माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा प्रदत्त सरकार के अधिकारों का हवाला देते हुए अपील किया है कि सरकार अपने अधिकारों का प्रयोग करते हुए वर्ष 2000 के बाद विभिन्न विद्यालयों में प्रबंधन तंत्र द्वारा नियुक्त किए गए उन तमाम शिक्षकों की माली हालत को देखते हुए उनका वेतन भुगतान तत्काल सुनिश्चित कराएं तथा विनियमितीकरण करके उनके भविष्य को उज्जवल करें । उन्होंने बताया कि लंबे अंतराल से माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की गई है, जिसके कारण छात्र-छात्राओं के पठन-पाठन का कार्य प्रभावित हो रहा था। छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए पठन-पाठन कार्य को सुचारू रूप से संचालित करने हेतु प्रबंध तंत्र द्वारा विषय विशेषज्ञ शिक्षकों की नियुक्ति की गई थी। सांसद के इस प्रयास का शिक्षक संगठनों तथा शिक्षकों द्वारा सराहना किया जा रहा है। सराहना करने वाले शिक्षकों में राजेश सिंह, अविनाश, सुधाकर पांडे, डॉक्टर सुनील सिंह,  ज्ञानदीप, राकेश, अरुण मिश्रा, अंकुर, नीरज, प्रफुल्ल, अखिलेश मिश्रा, राजीव सिंह, ओमकार यादव, संजय सिंह व संदीप मिश्रा प्रमुख रूप से शामिल हैं । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *