मिशन शक्ति कार्यक्रम के पहले चरण के आखिरी दिन कलेक्ट्रेट सभागार में भव्य कार्यक्रम हुआ

जन एक्सप्रेस /सुनहरा
लखीमपुर खीरी। रविवार को मिशन शक्ति कार्यक्रम के प्रथम चरण के अंतिम दिन कलेक्ट्रेट सभागार में भव्य कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिसका शुभारंभ डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह एसपी विजय ढुल ने सीडीओ अरविंद सिंह, एडीएम अरुण कुमार सिंह, एसपी अरुण कुमार सिंह की मौजूदगी में किया। आयोजित इस कार्यक्रम में 114 महिला शक्ति योद्धाओं को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के आरंभ में जिला प्रोबेशन अधिकारी संजय कुमार निगम ने मिशन शक्ति की गत 1 सप्ताह में संचालित की गई विविध गतिविधियों पर आधारित पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ. नमिता श्रीवास्तव ने किया। डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने अधिकारी कर्मचारियों को बालिका सुरक्षा शपथ दिलाई।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने उपस्थित महिलाओं को विजयादशमी की शुभकामनाएं दी। उन्होंने मिशन शक्ति की परिकल्पना एवं प्रासंगिकता पर विस्तार से अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के बिना एक सभ्य समाज की परिकल्पना नहीं की जा सकती है। स्वालंबन बढ़ने पर ही महिलाओं के सुरक्षा और सम्मान में वृद्धि होगी। महिलाओं के सशक्तिकरण, स्वावलंबन हेतु सरकार नित नए कदम उठा रही है। विभिन्न सरकारी क्षेत्रों में कार्यरत महिला कार्मिक विजयादशमी के पावन अवसर पर मिशन शक्ति अभियान के तहत सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने संकल्प ले। विजेता के रूप में चयन होने पर बधाई उन्होंने बधाई दी।एसपी विजय ढुल ने कहा मिशन शक्ति अभियान के प्रथम चरण का आज समापन हुआ है। आगामी माह में इस मिशन के तहत विभिन्न थीमो पर विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिसकी तैयारी अभी से शुरू कर दी जाए। उन्होंने कहा कि महिलाओं को स्वावलंबी बनाने, उनकी बेहतरी, खुशहाली एवं शिक्षा के क्षेत्र में उनका बहुआयामी विकास करने में इस मिशन की बड़ी भूमिका है। उन्होंने कहा कि बच्चों में शिक्षा का अंकुर डालने में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की बड़ी भूमिका है। चिकित्सा के क्षेत्र में महिला चिकित्सकों, नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ ने कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान बड़ी भूमिका अदा की है। उन्होंने कहा कि समाज में महिलाओं की सुरक्षा स्वावलंबन एवं उन्हें सम्मान दिलाने के लिए सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है।सीडीओ अरविंद सिंह ने मिशन शक्ति के तहत सम्मानित होने वाली सभी शक्ति योद्धाओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि सरकार महिलाओं के जीवन स्तर को ऊपर उठाने उन्हें आत्मनिर्भर एवं स्वावलंबी बनाने के लिए महिलापरक योजनाओं का संचालन कर रही है। जिन को जमीनी स्तर तक क्रियान्वित कराने की जिम्मेदारी आपके कंधों पर है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को सरकारी योजनाओं से जोड़कर स्वावलंबी बनाएं और कानून के तहत उन्हें प्रदान किए जाने वाले प्रोटेक्शन के लिए जागरूक करें। दृढ़ता के साथ इस मिशन को आगे बढ़ाएं। सहायक श्रम आयुक्त एम०के० पांडे ने महिलाओं के सशक्तिकरण एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए महिला श्रमिकों के लिए श्रम विभाग अनेकों जन कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन कर रही है जिस के संबंध में उन्होंने विस्तार पूर्वक जानकारी दी। इस कार्यक्रम में महिला शक्ति केंद्र, जिला बाल संरक्षण इकाई, वन स्टॉप सेंटर, चाइल्ड लाइन, स्वाधार गृह पलिया समेत बेसिक शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, श्रम, चिकित्सा, पुलिस, डूडा, एनआरएलएम, एनयूएलएल, कृषि समेत तमाम विभागों ने प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *